Loading...
S.P.K.

एस.पी.के. जेना

अनुप्रयुक्त मनोविज्ञान विभाग, दिल्ली विश्वविद्यालय, भारत

एस.पी.के. जेना अनुप्रयुक्त मनोविज्ञान विभाग, दिल्ली विश्वविद्यालय, दक्षिण कैंपस (नई दिल्ली) में प्रोफेसर और पूर्व शिक्षक-इन-चार्ज हैं। उन्होंने सेंटर ऑफ एडवांस्ड स्टडी इन साइकोलॉजी (भुवनेश्वर) से स्नातक किया; नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ मेंटल हेल्थ एंड न्यूरोसाइंसेस (बैंगलोर) से नैदानिक मनोविज्ञान में प्रशिक्षण और केंद्रीय मनोरोगविज्ञान संस्थान (रांची) से नैदानिक मनोविज्ञान में डॉक्टरेट की उपाधि प्राप्त की। इससे पहले, उन्होंने राष्ट्रीय बौद्धिक दिव्यांगजन सशक्तिकरण संस्थान (पूर्वनाम नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ मेंटली हैंडीकैप्ड) के क्षेत्रीय प्रशिक्षण केंद्र (कोलकाता और पटना) में नैदानिक मनोविज्ञान में व्याख्याता के रूप में कार्य किया; रोहिलखंड विश्वविद्यालय (बरेली) के इंस्टीट्यूट ऑफ एडवांस्ड स्टडी इन एजुकेशन में विशेष शिक्षा में रीडर और गुरु जम्भेश्वर विश्वविद्यालय (हिसार) के एप्लाइड साइकोलॉजी में रीडर के रूप में कार्य किया। उन्होंने राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय पत्रिकाओं में कई लेख प्रकाशित किए हैं और वे दो पुस्तकेंः Perspectives in Mental Retardation और Behaviour Therapy: Techniques, Research and Applications के लेखक हैं। वह Indian Journal of Clinical Psychology के पूर्व संपादक हैं।