Loading...
Sanjay

संजय कुमार

निदेशक, सेंटर फ़ॉर द स्टडी ऑफ़ डेवलपिंग सोसाइटीज़ (सीएसडीएस), नई दिल्ली

संजय कुमार प्रोफ़ेसर हैं तथा वर्तमान में सेंटर फ़ॉर द स्टडी ऑफ़ डेवलपिंग सोसायटीज़ (सीएसडीएस) के निदेशक हैं। वे सीएसडीएस के अनुसंधान कार्यक्रम, लोकनीति के संस्थापक सदस्यों में से एक हैं तथा वर्तमान में इसके सह-नि देशक हैं। उनके शोध का प्रमुख क्षेत्र चुनाव संबंधी राजनीति है, हालांकि वे भारतीय युवा, दक्षिण एशिया में लोकतंत्र की स्थिति, भारतीय किसानों की स्थिति , दिल्ली की झुग्गी-झोपड़ियों (स्लम्स) और चुनाव संबंधी हिंसा से जुड़े शोधों के संचालन में भी शामि ल रहे हैं। उन्होंने कई पुस्तकों, संपादित खंडों का लेखन किया है, संपादित पुस्तकों में अध्यायों का योगदान दिया है और विभिन्न राष्ट्रीय तथा अतंरराष्ट्रीय शोध पत्रिकाओं में उनके लेखों का प्रकाशन हो चुका है। उनकी सबसे नवीन पुस्तक पोस्ट मंडल पॉलिटिक्स इन बिहार: चेंजिंग इलेक्टोरल पैटर्न्स है। उनके अन्य प्रकाशनों में चेंजिंग इलेक्टोरल पॉलिटिक्स इन दिल्ली : फ़्रॉम कास्ट टू क्लास, इंडियन यूथ इन अ ट्रांसफॉर्मिंग वर्ल्ड : एटीट्यूड्स एंड परसेप्शन्स (पीटर आर डिसूज़ा और संदीप शास्त्री के साथ), इंडियन यूथ एंड इलेक्टोरल पॉलिटिक्स: एन इमरजिंग इंगेजमेंट, राइज़ ऑफ़ प्लेबियंस? (क्रिस्टोफ़ जैफरलॉट के साथ), द चेंजिंग फ़ेस ऑफ़ इंडियन लेजिस्लेटिव असेम्बलीज़, और इलेक्टोरल पॉलिटिक्स इन इंडिया: रिसर्जेंस ऑफ़ द भारतीय जनता पार्टी (सुहास पलशीकर और संजय लोढ़ा के साथ) शामिल हैं।