Loading...
Image
Image
View Back Cover

भारतीय सेना में नेतृत्व

बारह सैनिकों की जीवनी

देश की एकता को कायम रखने और इसके लोकतंत्र, स्थिरता और सौहार्द को बनाए रखने के प्रति सेना नायकों के योगदान के बारे में आम लोगों में जानकारी का अभाव है। इस संदर्भ में, भारतीय सेना का रिकॉर्ड त्रुटिहीन रहा है।

यह अनोखी पुस्तक भारत में सैन्य नेतृत्व के 60 वर्षों से अधिक की अवधि के दौरान के 12 असाधारण सेना नायकों के मानवीय जीवन पहलुओं को उजागर करती है। प्रमुख योद्धाओं की पारंपरिक आत्‍मकथाएँ अधिकतर सैन्य अभियानों अथवा रेजीमेंटल इतिहासों पर केन्द्रित होती हैंI लेकिन इन सब से परे हटकर लेखक ने इन प्रमुख सेना नायकों का व्यक्तित्व उभारने के लिए उनके व्यक्तिगत अनुभवों, जीवन की झांकी और संस्मरणों पर ध्यान केन्द्रित किया है, और सैन्य मुखौटे के पीछे के मानवीय चेहरे को प्रकट किया है। 

यह दिलचस्प पुस्तक सैन्य इतिहास, सामरिक पाठ्यक्रम और समकालीन भारत का अध्ययन करने वाले छात्रों के अलावा रक्षाकर्मियों के लिए रुचिकर एवं उपयोगी साबित होगी।

  • फील्ड मार्शल के.एम. करियप्पा, ओबीई भारत के प्रथम कमांडर-इन-चीफ
  • लेफ्टिनेंट जनरल ठाकुर नथू सिंह एक निर्भीक राष्ट्रवादी
  • जनरल के.एस. थिमैय्या , डीएसओ टिम्मी साहिब, भारत के सबसे लोकप्रिय जनरल
  • लेफ़्टिनेंट जनरल एस.पी.पी. थोरट , केसी, डीएसओ एक निष्ठावान पेशेवर
  • ब्रिगेडियर मोहम्मद उस्मान, एमवीसी पराक्रम के प्रतिमान
  • फील्ड मार्शल एस.एच.एफ.जे. मानेकशॉ, एमसी पाकिस्तान पर भारत की विजय के शिल्पकार
  • लेफ्टिनेंट जनरल पी.एस. भगत, पीवीएसएम, वीसी सैनिकों के जनरल
  • लेफ्टिनेंट जनरल आर.एन. बत्रा, पीवीएसएम, ओबीई सर्वोत्कृष्ट संचारक
  • लेफ्टिनेंट जनरल सगत सिंह, पीवीएसएम भारत के सर्वश्रेष्ठ युद्ध अधिनायक
  • लेफ्टिनेंट जनरल ज़ेड.सी. बख्शी , पीवीएसएम, एमवीसी, वीर चक्र, वीएसएम भारत के सबसे अलंकृत जनरल
  • लेफ्टिनेंट जनरल एस.के. सिन्हा , पीवीएसएम सैनिक-राजनेता
  • लेफ्टिनेंट जनरल हनूत सिंह, पीवीएसएम, एमवीसी एक उत्कृष्ट रणनीतिज्ञ
वी. के. सिंह

मेजर जनरल वी.के. सिंह जून 1964 में राष्ट्रीय रक्षा अकादमी, खड़कवासला से उत्तीर्ण हुए। वर्ष 1965 में राष्ट्रीय सैन्य अकादमी, देहरादून से उत्तीर्ण होने के उपरांत उन्होंने सिग्नल कोर में कमीशन प्राप्त किया। सेना में 37 साल लंबे विस्तृत करियर के दौरान, उन्होंने कई महत्वपूर्ण पदों पर दायित्व निभाया, जिस में पश्चिमी कमान के प्रमुख सिग्नल अधिकारी का पद भी ... अधिक पढ़ें

Also available in:

PURCHASING OPTIONS

ISBN: 9789351506898

₹ 450.00

ISBN: 9789351506881

₹ 450.00

ISBN: 9789352808434

₹ 450.00

For shipping anywhere outside India
write to marketing@sagepub.in