Loading...
Image
Image
View Back Cover

ईज़ी मनी

मुद्रा का विकास, रॉबिनसन क्रूसो से प्रथम विश्वयुद्ध तक

  • विवेक कौल - डेली न्यूज़ एंड एनालिसिस (डीएनए) तथा दि इकोनॉमिक टाइम्स

ईज़ी मनी में विवेक कौल ने धन के इतिहास का समग्र और संपूर्ण विश्लेषण किया है और उन परिवर्तनों की व्याख्या की है जो पूरी कठोरता और बारीकी से हमें आर्थिक और सामाजिक इतिहास के इस मोड़ से रूबरू कराती है।

- प्रस्तावना सत्यजीत दास द्वारा लिखी गई है, जो एक्सट्रीम मनी: दि मास्टर्स ऑफ दि यूनिवर्स और दि कल्ट ऑफ़ रिस्क के लेखक हैं।

'धन और वित्तीय प्रणाली के उद्भव के इस विस्तृत अध्ययन में, विवेक कौल ने व्याख्या की है कि किस तरह से पिछले कुछ वर्षों, दशकों और शताब्दियों के दौरान भी घटित घटनाओं ने, जिनमें से ज्यादातर मामूली प्रतीत होती थीं, वर्तमान वित्तीय संकट में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। यह पुस्तक दिलचस्प, सूचनाप्रद और बेहद प्रासंगिक है।

जॉन एलेन पाउलोस, टेम्पल यूनिवर्सिटी में गणित के प्रोफेसर और ए मैथमेटिशियन प्लेज दि स्टॉक मार्केटए इन्यूमेरेसी, मैथमेटिशियन रीड्स दि न्यूज़पेपर तथा अन्य पुस्तकों के लेखक हैं।

'विवेक कौल की इज़ी मनी, दुनियाभर में हर उस व्यक्ति को पढ़ना चाहिए जो वित्त में डिग्री लेना चाहता हो- यह उनके उन सबके लिए उपयुक्त है।' जॉन ट्रूमैन वोल्फ, क्राइसिस बाइ डिजाइन: दि अनटोल्ड स्टोरी ऑफ दि ग्लोबल फाइनेंसियल कूप के लेखक

विजय कौल की इज़ी मनी, हमारी मौद्रिक व्यवस्था की एक रोचक ऐतिहासिक यात्रा है, जिसमें अतीत के दृष्टिकोण को हमारे वर्तमान वित्तीय आपदा पर उपयोगी ज्ञान के साथ समावेशित किया गया है। जेफनील्सन, लेखक/संपादक, बुलियन बुल्स, कनाडा

  • सत्यजीत दास द्वारा भूमिका
  • प्रस्तावना
  • परिचय
  • रॉबिनसन क्रूसो को पैसों की ज़रूरत क्यों नहीं थी
  • उपयोगी है सोना क्योंकि यह किसी काम का नहीं
  • वेनिस का सौदागर
  • बैंक ऑफ इंग्लैंड
  • आईज़ैक न्यूटन - जीवन के कुछ अन्य पहलू
  • क्रांति के दौरान कागज़ की मुद्राएं
  • बैंक ऑफ़ इंग्लैंड, केन्द्रीय बैंक कैसे बना
  • जब कुकी चूर चूर हो गई
  • सोने की दौड़ (द गोल्ड रश)
  • जैकल द्वीप का प्राणी
  • युद्धों के बीच
  • निष्कर्ष: यह समय कुछ अलग नहीं है
विवेक कौल

विवेक कौल ने डेली न्यूज एंड एनालिसिस और द इकोनॉमिक टाइम्स के साथ कई बड़े ओहदों पर काम किया है। उनके लेखन कार्यों को भारत के कई प्रकाशनों में जगह मिली है। उनमें द टाइम्स ऑफ इण्डिया, द टाइम्स ऑफ इण्डिया (क्रेडस्ट एडिशन), द हिन्दू, द हिन्दू बिजनेस लाईन, द पायनियर, इंडियन मैनेंजमेंट, एशियन एज, डेक्कन क्रॉनिकल, फोर्ब्स इण्डिया और वेल्थ इनसाइट शामिल है। ... अधिक पढ़ें

Also available in:

PURCHASING OPTIONS

For shipping anywhere outside India
write to customerservicebooks@sagepub.in