Loading...
Image
Image
View Back Cover

दैनिक जीवन में अर्थशास्त्र

विकास के क्षेत्र में कार्यरत पेशेवरों के लिए सरल मार्गदर्शिका

अर्थशास्त्र पर सार-संग्रह यह पुस्तक विशेष रूप से विकास के क्षेत्र में कार्यरत पेशेवरों और नागरिक समाज के उन कार्यकर्ताओं के लिए तैयार की गई है, जिन्हें इस विषय का औपचारिक प्रशिक्षण प्राप्त नहीं है। यह व्यष्टि अर्थशास्त्र की समझ, समष्टि आर्थिक परिवेश का ज्ञान और विकास अर्थशास्त्र नामक विशेषीकृत क्षेत्र के बारे में अंतर्दृष्टि प्रदान करती है। अलग-अलग अध्यायों के माध्यम से यह पुस्तक निर्धनता, असमानता, सामाजिक तथा लैंगिक भेदभाव और पर्यावरणीय प्रभाव को शामिल करती है।

दैनिक जीवन में अर्थशास्त्र, सार्वजनिक बहसों के उन सहभागियों को आवश्यक ज्ञान प्रदान करती है, जो अर्थशास्त्र की पृष्ठभूमि से नहीं हैं और विवेकशील अर्थशास्त्र सिद्धांत के माध्यम से अपने तर्कों तथा विश्लेषणों को दृढ़ता से रखना चाहते हैं। पुस्तक में विकास कार्यों और हस्तक्षेपों में अर्थशास्त्र का उपयोग करने हेतु विशेष युक्तियाँ भी दी गई हैं। लेखक ने अर्थशास्त्र में वर्णित विचारों और संबंधों को वास्तविक दुनिया की उन समस्याओं के साथ जोड़ने का प्रयास करते हैं, जिनका सामना हमें अपने जीवन में करना पड़ सकता है।

  • प्राक्कथन अनुराग बेहर
  • प्रस्तावना

परिचय

  • विकासवादी अभ्यासकर्ताओं को अर्थशास्त्र का अध्ययन क्यों करना चाहिए?
  • अर्थशास्त्र क्या है?

अर्थशास्त्र का विश्लेषणात्मक बॉक्स

  • व्यक्तियों तथा संस्थाओं के विवेकपूर्ण चयन का विश्लेषण
  • बाजार का विश्लेषण
  • स्थितियाँ जिनमें बाजार अपर्याप्त होता है
  • सम्बन्धों में रणनीतियों का विश्लेषण
  • समष्टि आर्थिक परिवेश की एक संक्षिप्त समझ

विकास एवं संवृद्धि

  • मानव विकास
  • संवृद्धि का अर्थशास्त्रः भाग 1
  • संवृद्धि का अर्थशास्त्रः भाग 2
  • अल्पविकास का अर्थशास्त्रः भाग 1
  • अल्पविकास का अर्थशास्त्रः भाग 2

वितरण एवं संवहनीयता सम्बन्धी मुद्दे

  • निर्धन एवं निर्धनता
  • असमानता
  • सामाजिक तथा लैंगिक भेदभाव की एक आर्थिक समझ
  • पर्यावरणीय प्रभाव का अर्थशास्त्र

व्यक्तियों एवं परिवारों से परे

  • सरकार की भूमिका
  • सरकार की विफलता तथा गैर-सरकारी कार्यवाहियाँ
  • संस्थान एवं विकास
  • राजनीतिक अर्थव्यवस्था एवं विकास

विकास सम्बन्धी अभ्यासों को संभव बनाना

  • विकास सम्बन्धी हस्तक्षेपों के लिए अर्थशास्त्र का उपयोग
  • संगठनों तथा नियमों के विश्लेषण एवं उनका प्रारूप तैयार करने में अर्थशास्त्र का उपयोग
  • ग्रंथसूची
वी. शांताकुमार

वी. शांताकुमार वर्तमान में अज़ीम प्रेमजी विश्वविद्यालय, बेंगलुरु में इकोनॉमिक्स फॉर डेवलपमेंट प्रैक्टिशनर्स का शिक्षण प्रदान कर रहे हैं। वह 1996 से 15 वर्षों तक सेंटर फॉर डेवलपमेंट स्टडीज, त्रिवेन्द्रम में फैकल्टी रह चुके हैं तथा वे वर्तमान में वहाँ के अतिथि प्रोफेसर हैं। अंतरराष्ट्रीय जर्नलों में प्रकाशनों के अलावा उन्होंने सेज द्वारा प्रकाशि ... अधिक पढ़ें

Also available in:

PURCHASING OPTIONS

For shipping anywhere outside India
write to customerservicebooks@sagepub.in