Loading...
Image
Image
View Back Cover

आरएसएस, स्कूली पाठ्यपुस्तकें और महात्मा गाँधी की हत्या

हिन्दू सांप्रदायिक परियोजना

आरएसएस, स्कूली पाठ्यपुस्तकें और महात्मा गाँधी की हत्या: हिन्दू सांप्रदायिक परियोजना बिलकुल भिन्न तीन मुद्दों, आरएसएस स्कूली पाठ्यपुस्तकों की प्रकृति, महात्मा की हत्या और सावरकर तथा गोलवलकर द्वारा व्यक्त मूल हिन्दू सांप्रदायिक विचारधारा को एक साथ रखने के नवीन प्रयोग का बीड़ा उठाती है। सभी तीन पहलुओं पर अत्यन्त गहन शोध करते हुए, यह पुस्तक उनके एक दूसरे पर पड़ने वाले प्रभावों को सामने लाती है।

पुस्तक बहुत प्रभावशाली तरीके से, हमारे समाज में व्याप्त सांप्रदायिक खतरों से हमारा परिचय करवाती है, जो इसे राजनेताओं, राजनीतिक कार्यकर्ताओं, सामाजिक कार्यकर्ताओं, पत्रकारों, इतिहासकारों और सामाजिक वैज्ञानिकों सहित सामान्य शिक्षित पाठक को अनिवार्य रूप से पढ़ने योग्य बनाती है।

  • प्रस्तावना

भाग एक : आरएसएस और स्कूली शिक्षा

भाग दो : गाँधीजी की हत्या की प्रेतछाया : गाँधीजी की हत्या का षड्यंत्र

  • गाँधीजी की हत्या की पृष्ठभूमि
  • भारतीय राज्य के चरित्र को ख़तरा
  • गाँधीजी की हत्या का कोई अफसोस नहीं

भाग तीन: हिन्दू साम्प्रदायिकता की विचारधारात्मक निर्मित्तियाँ

  • गैर-हिन्दुओं के प्रति रवैया
  • मुस्लिम-विरोधी पूर्वाग्रह
  • कांग्रेस-विरोधी और गाँधी-विरोधी रवैया
  • भारतीय राष्ट्रवाद की हिन्दू सांप्रदायिक परिभाषा और उनकी अपनी स्वामिभक्ति
आदित्य मुखर्जी

आदित्य मुखर्जी जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय के सेंटर फॉर हिस्टोरिकल स्टडीज में समकालीन इतिहास के प्रोफेसर हैं. वो स्कूल ऑफ सोशल साइंसेज, जेएनयू के डीन तथा जवाहरलाल नेहरू इंस्टीट्यूट ऑफ एडवांस्ड स्टडीज, जेएनयू के निदेशक भी रहे हैं। वो संयुक्त राज्य अमेरिका स्थित उत्तरी कैरोलिना के ड्यूक विश्वविद्यालय में अतिथि प्रोफेसर और 1999-2000 में टोक्यो विश्वव ... अधिक पढ़ें

मृदुला मुखर्जी

मृदुला मुखर्जी जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय के सेंटर फ़ॉर हिस्टोरिकल स्टडीज़ में आधुनिक भारतीय इतिहास की प्रोफ़ेसर, स्कूल ऑफ़ सोशल साइंसेज, जेएनयू और नेहरू मेमोरियल म्यूज़ियम एंड लाइब्रेरी की निदेशक रह चुकी हैं। वो 1986 में संयुक्त राज्यअमेरिका स्थित उत्तरी कैरोलिना के ड्यूक विश्वविद्यालय और 1999–2000 में टोक्यो विश्वविद्यालय में अतिथि अध्येता रही ... अधिक पढ़ें

सुचेता महाजन

सुचेता महाजन आधुनिक भारतीय इतिहास की प्रोफ़ेसर तथा सेंटर फ़ॉर हिस्टोरिकल स्टडीज़, जेएनयू की अध्यक्ष हैं। साथ ही वे पी. सी. जोशी आर्काइव्ज़ ऑन कंटेम्पररी स्टडीज़ की अध्यक्ष भी रह चुकी हैं। उन्होंने दिल्ली विश्वविद्यालय में पढ़ाया है और वूस्टर कॉलेज ओहायो, यूएसए में अतिथि प्रोफ़ेसर रह चुकी हैं। वे शिमला के इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ एडवांस्ड स्टडी में फ ... अधिक पढ़ें

Also available in:

PURCHASING OPTIONS

For shipping anywhere outside India
write to customerservicebooks@sagepub.in