Loading...
Image
Image
View Back Cover

सफलता के लिए जीवन कौशल

  • अलका वाडकर - भूतपूर्व अध्यापिका, मनोविज्ञान विभाग, पुणे विश्वविद्यालय

अनोखे और बिलकुल नए ढंग से लिखी गई यह पुस्तक पाठकों को रोज़मर्रा की चुनौतियों के स्वरूपों से अवगत कराते हुए उनके व्यक्तिगत और व्यावसायिक कौशल को बढ़ाने में मदद करेगी।
 
‘सफलता के लिए जीवन कौशल’ रोज़मर्रा की चुनौतियों जैसे तनाव, स्वास्थ्य, काम, व्यक्तिगत संबंध, संवाद, आग्रहिता और आत्म-प्रतिष्ठा आदि को समझाने और इनका सामना करने में पाठकों की मदद करने के लिए मनोविज्ञान के मूल तत्त्वों का उपयोग करती है। इस पुस्तक की रचना सभी पाठ्यक्रम के छात्रों की ज़रूरतों को ध्यान में रखते हुए की गई है, जिससे उन्हें जीवन के आवश्यक पहलुओं की प्रकृति, कारण और प्रभाव समझते हुए, इन पहलुओं के बारे में महत्त्वपूर्ण अंतर्दृष्टि विकसित करने में मदद मिलेगी।
एक अत्यावश्यक संसाधन के तौर पर यह पुस्तक छात्रों को उनके निजी और व्यावसायिक जीवन में सफलता प्राप्त करने के लिए अंतर्वैयक्तिक कौशलों, सामाजिक संवादों और आत्म-प्रबंधन की क्षमताओं को बेहतर बनाने में मददगार सिद्ध होगी।
 
प्रमुख विशेषताएँ
 
• रोज़मर्रा की ज़िंदगी में महत्त्वपूर्ण चुनौतियों की प्रकृति, कारण, प्रभाव और उनका सामना करने के तरीके को समझने में सहायक
 
• संवाद की कठिनाइयों, तनाव के प्रबंधन, क्रोध एवं भय, सामूहिक कार्य, अग्रसक्रिय सोच, रचनात्मकता और समय के प्रबंधन जैसे पहलुओं का विश्लेषण
 
• अनुप्रयोग-उन्मुख विषय-वस्तु के माध्यम से स्व-मूल्यांकन हेतु उपयुक्त उदहारण दिए गए हैं
 

  • आभार
  • भाग 1ः आत्म-चेतना
  • आत्म-प्रतिष्ठा
  • प्रेरणा ;डवजपअंजपवदद्ध
  • सृजनात्मकता
  • मूल्य एवं नैतिकता
  • स्व-प्रबंधन
  • भाग 2ः संवाद एवं चिंतन
  • संवाद
  • चिंतन एवं तार्किकता
  • अग्रसक्रिय चिंतन
  • सकारात्मक चिंतन
  • आग्रहिता
  • भ्रांतियाँ, गलतफहमी तथा विरोधाभास
  • भाग 3ः भावनाएं
  • भावनाएं
  • भावनात्मक बुद्धिमत्ता
  • प्रेम एवं सुख
  • क्रोध एवं भय
  • तनाव
  • भाग 4ः अन्य से संबंधित
  • समानुभूति
  • मित्रता
  • नेतृत्व
  • सहक्रियात्मक विश्लेषण, प्रथम प्रभाव तथा प्रस्तुति कौशल
  • दल निर्माण ;ज्मंउ ठनपसकपदहद्ध
  • अंतर्वैयक्तिक सम्बन्ध
  • संदर्भ
  • ग्रंथसूची
अलका वाडकर

अपने संपूर्ण शैक्षणिक उद्यम के दौरान अलका वाडकर ने एक उज्जवल कैरियर को प्रदर्शित किया है। उन्होंने मनोविज्ञान में अनेक पुरस्कारों तथा छात्रवृत्तियों सहित अपने परास्नातक एवं शोध-उपाधि को पूरा किया है। उनके पास शैक्षणिक, शोधकार्य तथा सामाजिक रूप से प्रासंगिक कार्यों का प्रचुर अनुभव है। उन्होंने लगभग 30 वर्षों तक पुणे विश्वविद्यालय के मनोविज्ञान ... अधिक पढ़ें

Also available in:

PURCHASING OPTIONS

For shipping anywhere outside India
write to customerservicebooks@sagepub.in