Loading...
Image
Image
View Back Cover

पहला नक्सली

कानू सान्याल की अधिकृत जीवनी

ऐसा कभी-कभी ही होता है कि किसी एक व्यक्ति की कहानी उसके द्वारा किए गए कार्य के साथ इतना ज़्यादा गुंथ जाती है कि उस व्यक्ति विशेष को और उस कार्य को एक-दूसरे से अलग करना नामुमकिन हो जाता है।

कानू सान्याल की कहानी ऐसी ही एक दुर्लभ कहानी है: इसे पढ़ना यानि नक्सली आंदोलन के इतिहास को, जिसे भारतीय संस्थानों ने देश की आंतरिक सुरक्षा के लिए सबसे बड़ा ख़तरा माना है, फिर से अनुभव करना है।

यह पुस्तक कानू सान्याल के बचपन से लेकर नक्सलबाड़ी विद्रोह के दिनों और उससे भी आगे की कहानी बयान करती है। यह पुस्तक एक साम्यवादी विद्रोही के रूप में सान्याल की क्रमागत उन्नति पर विशद जानकारी प्रदान करती है और नक्सली आंदोलन की पृष्ठभूमि की प्रासंगिक जानकारी के साथ उसके विभिन्न चरणों पर प्रकाश डालती है।

  • प्रस्तावना
  • आभार
  • अन्त से प्रारंभ
  • पाठशाला के दिन
  • राजनीति की तरफ झुकाव
  • विभाजन, आज़ादी और मैट्रिक की परीक्षा
  • कॉलेज में: एक राजनैतिक खोज की शुरुआत
  • सीपीआई पर प्रतिबन्ध: एक विद्रोही का जन्म
  • चारू मजूमदार से भेंट: नियति का प्रथम दृष्टिक्षेप
  • गाँव के लिए रवानगी: वास्तविक प्रारंभ
  • किसानों के अधिकारों पर दावा : कार्रवाई का समय
  • भूमि सुधार: अंतर्गत मतभेद
  • भारत-चीन युद्ध और सीपीआई में फूट
  • चारू मजूमदार के साथ मतभेद और चटहाट के प्रयोग
  • नक्सलबाड़ी आंदोलन का विद्रोह
  • माओत्से तुंग से भेंट के लिए चीन की ओर प्रस्थान
  • सीपीआई-एमएल का निर्माण और विघटन
  • कारावास से मुक्ति और एक नए संघर्ष की शुरुआत
  • क्रांति बनाम आतंकवाद: नंदीग्राम से लालगढ़ तक
  • निजी जीवन
  • विद्रोही जो घर नहीं लौटा
  • छायाचित्र
  • ऐतिहासिक दस्तावेज़ और ख़बरों की कतरनें
  • शब्दकोष
  • घटनाक्रम: कानू सान्याल के जीवन की महत्वपूर्ण घटनाएँ
बप्पादित्य पॉल

बप्पादित्य पॉल न्यूज़मेन, कोलकाता के संपादक हैं। 2005 में सिलीगुड़ी में द स्टेट्समैन में एक कर्मचारी पत्रकार के रूप में शुरुआत करने से पहले उन्होंने जन संचार (मास कम्युनिकेशन) में अपनी स्नातकोत्तर उपाधि प्राप्त की। पॉल ने नक्सलवाद से लेकर गोरखालैंड आंदोलन, समकालीन भारतीय राजनीति से लेकर पर्यावरणीय दुर्दशा तक विभिन्न मुद्दों पर अनेक लेख प्रकाशित किए ... अधिक पढ़ें

Also available in:

PURCHASING OPTIONS

For shipping anywhere outside India
write to customerservicebooks@sagepub.in